Gazal Hindi

  गजल दुनिया की सबसे खतरानाक वास्तु, हिंदी गजल,फिल्मी गजल,से लेकर आप को सबसे दरदभरे गजले,दरभंग गजल शायरी,गजल गीत का संग्रह आप तक पहुंचा रहे हैं हिंदी गजल को पढ़ने के लिए ऊपर दिए गए साहित्य के बटन को प्रेस करें| यहां पर आपको हिंदी गजल से बहुत रिलेटेड पोस्ट मिलेंगे। हिंदी गजल, गजल लोकप्रिय, हिंदी शायरी ऐसे तमाम पोस्ट देखने को मिलेगा। Ghazal in Hindi

...................................

दिलीप कुमार वरुण
©वरुण " विमला "
बस्ती, उत्तर प्रदेश

मेरी हैवानियत का पर्दाफाश हो गया
आईने से जब गर्द साफ हो गया

दूरियों का इल्म मुझे तब पता चला
तुम की जगह से जब मैं आप हो गया

ख़्वाहिशें दबाना जिम्मेदारियां उठाना
सब का पता चला जब मैं बाप हो गया

इज़्ज़त का दायरा बढ़ता चला गया
रूपये का दम जब उसके पास हो गया

उठती नहीं थी जो नज़र उसकी तरफ़
उन्ही नज़र में देखो वही ख़ास हो गया

हिज्र की हो दूरी पर उसकी खुशी हो पूरी
हां कर दिया 'वरुण' औ चुपचाप हो गया

ख़ुश्कपन है चारो तरफ कुछ भी अब हरा नही
तिरे जाने के खालीपन से दिल अभी भरा नही

धूप पानी हवा सियायत शासन सब सितम ढाओ
मजबूर किसान हूँ चुनौतियों से कभी डरा नही

मिरी कश्ती का पतवार लेकर जाने वाले
इक आस में हूँ जिन्दा मैं अभी मरा नही

जो छू दे मिरी कब्र वारे न्यारे हो जाये
तू ही तो मिरी गंगा है मैं अभी तरा नही
©वरुण " विमला "


0 Comments