बिना ऑपरेशन के गुर्दे की पथरी को कैसे ठीक करें, आइए जानते हैं....

बिना ऑपरेशन के गुर्दे की पथरी को कैसे ठीक करें

  क्या आप के गुर्दे में 10 एमएम (10 mm in kidney) की पथरी है। अगर हैं तो परेशान मत हो

10 mm in kidney

 क्या आप के गुर्दे में 10 एमएम (10 mm in kidney) की पथरी है। अगर हैं तो परेशान मत हो, इस का ऑपरेशन की जरूरत नहीं, बस नियम आप को अपनाना होग। 

10 guru ke naam

 हम जो बता रहे है। पथरी के प्रॉब्लम से दूर हो सकते हैं। 

आप जानते ही होगे की पथरी के दर्द को लेकर लोग बहुत परेशान रहते हैं लेकिन कई बार समय पर उपचार नहीं करा पाते। इस मामले में बीमारी के गंभीर होने का खतरा बना रहता है। अधिकतर लोगो में (10 mm in kidney) ज्यादा देखने की मिलती है। 

पथरी के दर्द को लेकर लोग परेशान रहते हैं, लेकिन कई बार समय पर उपचार नहीं कराते। ऐसे में बीमारी के गंभीर होने का खतरा बना रहता है। समय पर डॉक्टर से सलाह लेने और उचित परहेज से बीमारी से बचा जा सकता है। राजकीय मेडिकल कॉलेज के सर्जरी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. श्रीरंजन काला कहते हैं-

    कि गुर्दे में 10 एमएम (10 mm in kidney) से कम की पथरी है तो ऑपरेशन की जरूरत नहीं होती है।  

पथरी होने का कारण (cause of stones)

पेशाब में बार-बार संक्रमण होना

खाने में प्रोटीन की ज्यादा मात्रा होना,

नमक जरूरत से ज्यादा खाना,

पैरा थायराइड की कमी, हो जाने से

आमाशय के बड़े ऑपरेशन के बाद

पेशाब में रूकावट पैदा होना, 

ये हैं, गुर्दे की पथरी के लक्षण होता हैं। 

1. पेट में दर्द होना,

2. पेशाब लाल होना

3. पेशाब में जलन

4. उल्टी आना 

5. बार-बार पेशाब जाना

 गुर्दे की पथरी का केसे करे खत्म

गुर्दे में पथरी के बारे में अल्ट्रासाउंड से पता लागत है। जिसमे किडनी फंक्शन टेस्ट व अन्य कुछ जांचों की जाती हैं।

  पथरी बचाव के लिए अपनाएं ये उपाय

1. पानी खूब पिएं,

2. नमक व मीठे का कम सेवन करें

3. प्रोटीन वाली डायट कम लें

4. बड़े दाने वाली दालें न लें

5. रेड मीट न खाएं

6. ऑपरेशन व दवा से उपचार संभव

डॉ. काला कहना हैं कि गुर्दें में 10 एमएम (10 mm in kidney) की पथरी होने पर दवाइयां व परहेज से इलाज किया जा सकता है।यह केवल बचाओ पर निर्भर करता है। इससे बड़ा साइज होने की स्थिति में ऑपरेशन करना हो होता है। लिथोट्रिप्सी, दूरबीन से ऑपरेशन व चीरा लगाकर भी पथरी को निकाला जाता है। आप को बता दे की बीमारी तब जटिल हो जाती है, जब लगातार पथरी बन रही हो, गुर्दे में ज्यादा में सूजन हो और इस के अलावा मवाद भी आ रहा हो।  

पित्त की थैली में पथरी का इलाज केवल ऑपरेशन

डॉ. काला ने बताया कि पित्त की थैली में पथरी चिकनाई व चर्बी वाले भोजन के ज्यादा सेवन से होती है। यह इस बीमारी में पेट के दाहिने हिस्से या तो फिर बायीं तरफ दर्द होने लगता है। पेट फूलना, पेट में में भारीपन सा महसूस होना आदि। पित्त की थैली में पथरी ऑपरेशन ही इस बीमारी का उपचार संभव है।

0 Comments