एक साथ मौत के आगोश में समा गए दो जिगरी दोस्त

 एक साथ मौत के आगोश में समा गए दो जिगरी दोस्त

प्रमोद ओझा

गुरुवार की देर रात गोण्डा जिले के मनकापुर के पास परीक्षा देकर लौटते समय हुआ सड़क हादसा 

बस्ती जिले के हरैया थाना क्षेत्र के रमया मरवटिया के थे दो जिगरी दोस्त विवेक और शिवम 

दोनो दोस्त

कप्तानगंज बस्ती। गुरुवार की देर रात सड़क हादसे में काल के गाल में समाए विवेक और शिवम की दोस्ती इस कदर थी कि बचपन से पढ़ाई के साथ कहीं भी घूमने जाना हो या फिर किसी समारोह में शामिल होना हो, एक साथ जाना उनका शौक था।दोनों में इतना प्यार था कि पढ़ाई के साथ प्राइवेट नौकरी और अक्सर शाम एक साथ बिताना पंसद करते थे। लेकिन, उन्हें क्या पता था कि उनकी ये दोस्ती उनको एक साथ मौत तक भी ले जाएगी।  

     बस्ती जिले के हरैया थाना क्षेत्र के मरवटिया गांव के दोनों जिगरी दोस्तों की गोण्डा मनकापुर मे परीक्षा देकर लौटते समय एक हादसे में गुरुवार की देर रात दर्दनाक मौत हो गई।साऐ की तरह हमेशा साथ रहने वाले होनहार युवक विवेक सिंह और शिवम सिंह की मौत से जहां परिवार और इलाके में मातम है, वहीं परिजनों और गांव के लोगों की आंखें दोनों युवकों की दोस्ती की बातें कर भर आ रही है। दोनो‌ के अन्य साथी भी उनकी यारी के यादगार लम्हों का जिक्र करते हुए यह कह रहे हैं कि ईश्वर ने ऐ क्या कर दिया। बताते चलें हरैया थाना क्षेत्र के रमया मरौटिया गांव निवासी विवेक सिंह उर्फ निखिल 26 पुत्र वीरेंद्र सिंह और शिवम सिंह 25 पुत्र राजेश सिंह दोनों हम उम्र एक अच्छे दोस्त थे। दोनों की दोस्ती की इस कदर थी कि दोनों साए की तरह एक साथ ही रहते थे। बचपन से ही पढ़ाई के साथ-साथ दोनों सुल्तानपुर के जगदीशपुर में स्थित पोल्ट्री फार्म में अपने एक हितैषी के फैक्टीमे मैनेजमेंट का कार्य करते थे। मिलनसार और हंसमुख स्वभाव के विवेक और शिवम दोनो युवकों के परिवार रिश्तेदार सहित गांव के लोग उनकी दोस्ती पर इतराते थे। परिवार के लोगों को दोनों युवकों पर उम्मीदें भी थी। गुरुवार को विवेक और शिवम एक ही मोटरसाइकिल से मनकापुर बीए की परीक्षा देने गए थे।और वापस लौटते समय दोनों मनकापुर मसकनवां रोड पर अशरफाबाद जंगल के पास सड़क हादसे में असमय काल के गाल में समा गए। ग्रामीणों व रिश्तेदारों की माने तो दोनों में इतना प्यार था कि एक साथ साए की तरह रह कर समय बिताना पसंद करते थे। लेकिन उन्हें क्या पता था कि उनकी ऐ साथ की दोस्ती एक साथ मौत भी आ जाएगी। मृतक विवेक सिंह जहां दो भाइयों में बड़ा था। छोटा भाई नितिन पढ़ाई कर रहा है। मृतक विवेक के पिता वीरेंद्र सिंह किसान हैं और माता गृहणी हैं। वही शिवम सिंह दो भाइयों में छोटा था बड़े भाई शुभम है। वह अभी पढ़ाई कर रहा है पिता राजेश सिंह किसान है और माता शोभा सिंह गृहणी हैं। गुरुवार की देर रात विवेक और शिवम की मौत की सूचना गांव पहुंची तो पूरे इलाके में मातम पसर गया। परिवार और गांव के लोगों को तो विश्वास नहीं हो रहा है कि विवेक और शिवम की सड़क हादसे में मौत हो गई। परिजन देर रात रही घटना स्थल पर पहुंच चुके थे। गोण्डा जिले के मनकापुर की पुलिस पीएम की तैयारी में जुटी रही। देर शाम ‌दोनों जिगरी दोस्तों का शव भी एक साथ गांव पहुंचा।तो परिजनों के करूण क्रन्दन के वातावरण गमगीन हो गया। उपस्थित लोग भी अपने आंसू नहीं रोक पाए। एक साथ दोनों दोस्तों की चिताओं जले तो हर कोई रो पड़ा।

0 Comments